आपको बहरा भी बना सकता है Corona, नए शोध में COVID-19

कोरोना वायरस (Coronavirus) के चलते क्या सुनने की क्षमता प्रभावित होती है? वैज्ञानिकों ने इस सवाल का जवाब ढूंढ लिया है. एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति बहरा (Hearing Loss) हो सकता है या उसमें श्रवण संबंधी अन्य समस्याएं हो सकती हैं. यूनिवर्सिंटी ऑफ मैनचेस्टर और एनआईएचआर मैनचेस्टर बायोमेडिकल रिसर्च सेंटर (University of Manchester and NIHR Manchester Biomedical Research Centre-BRC) के वैज्ञानिकों द्वारा किया गया यह अध्ययन इंटरनेशनल जर्नल ऑफ ऑडियोलॉजी में प्रकाशित हुआ है.

आपको बहरा भी बना सकता है Corona, नए शोध में COVID-19

56 लोगों की हुई पहचान

प्रोफेसर केविन मुनरो (Kevin Munro) और पीएचडी शोधकर्ता इब्राहिम अल्मफुर्रिज (Ibrahim Almufarrij) ने अध्ययन के दौरान ऐसे 56 लोगों की पहचान की जिन्हें कोरोना संक्रमण के चलते सुनने की समस्या का सामना करना पड़ रहा था. रिसर्च के दौरान वैज्ञानिकों को सुनने की समस्याओं वाले करीब 7.6 फीसदी, कानों में तरह-तरह की और अनावश्यक आवाजें सुनाई देने वाले 14.8 प्रतिशत, जबकि चक्कर आने के 7.2 फीसदी मामले देखने को मिले. यूनिवर्सिंटी ऑफ मैनचेस्टर में प्रोफेसर और अध्ययनकर्ता केविन मुनरो ने कहा कि COVID-19 के श्रवण-संबंधी प्रणाली पर दीर्घकालिक प्रभावों को समझने के लिए व्यापक स्तर पर क्लीनिकल स्टडी करने की जरूरत है.

Meningitis में होती है समस्या

प्रो. मुनरो ने कहा कि इससे पहले खसरा और मेन्निजाइटिस (Meningitis) जैसे वायरसों के प्रभाव के कारण सुनने की समस्याएं देखी जा चुकी हैं. अब यह समझने की जरूरत है कि कोरोना वायरस सुनने की क्षमता को कैसे प्रभावित कर सकता है. उन्होंने आगे कहा कि हाल ही में किया गया अध्ययन कोरोना के चलते सुनने की क्षमता प्रभावित होने के दावे का समर्थन तो करता है, लेकिन इस पर अधिक काम किए जाने की आवश्यकता है. प्रोफेसर मुनरो और उनकी टीम फिलहाल उन लोगों पर शोध कर रही है जो कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, ताकि COVID-19 के सुनने की क्षमता पर दीर्घकालिक प्रभावों के बारे में पता लगाया जा सके.

मिल रहीं Hearing Loss की शिकायतें

स्टडी रिपोर्ट में कहा गया है कि जिन कोरोना रोगियों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है, उनमें से 13 प्रतिशत लोगों ने सुनने में आ रही दिक्कतों की शिकायत की है. इब्राहिम अल्मफुर्रिज ने कहा कि इस संबंध में लगातार शोध किए जा रहे हैं. हमें उम्मीद है कि हमारे हालिया अध्ययन से उन वैज्ञानिक दावों को समर्थन मिलेगा कि कोरोना और हियरिंग लॉस के बीच गहरा संबंध है’. वहीं, प्रोफेसर मुनरो ने बताया कि पिछले कुछ समय से लोग लगातार शिकायत कर रहे हैं कि कोरोना संक्रमित होने के बाद उनकी सुनने की क्षमता प्रभावित हुई है. उन्होंने कहा, अभी यह कहना मुश्किल होगा कि ऐसा सीधे तौर पर कोरोना की वजह से हुआ है, लेकिन यह चिंता का विषय है.

Rajinikanth gots Dadasaheb Phalke Award

https://drmilind.com/%e0%a4%86%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%b0-%e0%a4%a8%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a5%8b%e0%a4%9c%e0%a4%a8-diet-plan-in-hindi/

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

21,160FansLike
500FollowersFollow
800FollowersFollow
- Advertisement -

Latest Articles

%d bloggers like this: